भारत में दशमूलारिष्ट की कीमत

भारत में दशमूलारिष्ट मूल्य – क्या आप भारत में दशमूलारिष्ट मूल्य के बारे में विवरण जानने में रुचि रखते हैं सबसे पुरानी आयुर्वेदिक औषधियों में से एक होने के नाते दहमूलसृष्टा, जिसे दशमुला के नाम से भी जाना जाता है। इसकी अभी भी काफी मांग है और यह हर्बल औषधि आपको भारत भर के हर घर में मिल जाएगी। दशमूला को बनाने में 50 से अधिक जड़ी-बूटियों का उपयोग किया जाता है और प्रसव के बाद की कमजोरियों से राहत पाने के लिए इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

भारत में दशमूलारिष्ट मूल्य

यूनीरे लाइफसाइंसेज भारत में सर्वोत्तम गुणवत्ता वाली क्लासिकल हर्बल रेंज पेश करने वाली शीर्ष आयुर्वेदिक पीसीडी कंपनी है। सभी उत्पाद चयनित आपूर्तिकर्ताओं से प्राप्त सर्वोत्तम गुणवत्ता वाले कच्चे माल से बने हैं। इसके अलावा, हमारी हर्बल कंपनी के पास सर्वोत्तम उपकरणों के साथ अपनी स्वयं की विनिर्माण इकाई है। यह उच्च गुणवत्ता वाली हर्बल रेंज सुनिश्चित करता है और यूनीरे मुख्य रूप से पूरे भारत में पीसीडी हर्बल फ्रैंचाइज़ी व्यवसाय के अवसरों पर काम करता है।

यूनीरे लाइफसाइंसेज के पास व्यापक चिकित्सा स्थितियों पर ध्यान केंद्रित करने वाले हर्बल उत्पादों की एक लंबी सूची है। सभी उत्पाद आयुष मंत्रालय के सख्त दिशानिर्देशों के तहत बनाए गए हैं। यूनीरे लाइफसाइंसेज के बारे में अधिक जानने के लिए, 9815340201 पर कॉल करके हमसे संपर्क करें  और, आप हमें  uniraylifesciences@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।

Read In English

दशमूलारिष्ट – सर्वोत्तम हर्बल स्वास्थ्य टॉनिक 

दशमूलारिष्ट या देशमूल एक काफी लोकप्रिय आयुर्वेदिक स्वास्थ्य टॉनिक है जिसका स्वाद सभी भारतीयों को अपने जीवन में कम से कम एक बार अवश्य लेना चाहिए। इस आयुर्वेदिक टॉनिक में 50 से अधिक औषधीय जड़ी-बूटियाँ हैं। इसका प्रयोग अधिकतर कमजोरी की स्थिति में किया जाता है। मोटापा, महिलाओं में प्रसव के बाद की कमजोरी आदि। इसके अलावा, दशमूलारिष्ट एक पौधा-आधारित आयुर्वेदिक टॉनिक है जिसका उपयोग कई चिकित्सीय स्थितियों में किया जाता है। यह एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है।

इसके अलावा, दशमूलारिष्ट शब्द दो शब्दों से बना है – “दशा” जिसका अर्थ है दस, और “मूल” जिसका अर्थ है जड़ें। यह विभिन्न चिकित्सीय समस्याओं में दर्द निवारक के रूप में अत्यधिक उपयोग किया जाता है। अंत में, इसमें लगभग 7% अल्कोहल होता है जो कि अतिरिक्त जड़ी-बूटियों के किण्वन के कारण उत्पन्न होता है।

दशमूलारिष्ट की रचना 

साहित्य के अनुसार, समय के साथ किण्वन की प्रक्रिया के तहत 71 औषधीय जड़ी-बूटियाँ बनाई जाती हैं। अंतिम उत्पाद अत्यधिक संकेंद्रित होता है और इसे पानी मिलाकर पतला किया जा सकता है। तो, ये सभी औषधीय जड़ी-बूटियाँ विभिन्न गुणों जैसे कि सूजन-रोधी, कायाकल्प, दर्द-निवारक आदि पर ध्यान केंद्रित करती हैं।

  • बेल
  • गोक्षुरा
  • लोधरा
  •  चित्रक
  • अमला
  • पिप्पली
  • हल्दी
  • जीवक
  • कुटज
  • धातकी
  • चंदन
  • इलायची
  • गिलोय
  • अमला
  • खदिर
  • हरड़
  • मंजिष्ठा
  • देवदारू और भी कई जड़ी-बूटियाँ।

दशमूलारिष्ट के फायदे

  1. सबसे पहले दशमूलारिष्ट व्यक्ति की भूख बढ़ाने में मदद करता है। खासतौर पर डिलीवरी के बाद ठीक हो रही महिलाओं के लिए। इस टॉनिक में पाचन तंत्र को बेहतर बनाने के लिए पाचन उत्तेजक गुण होते हैं।
  2. दूसरे, इस आयुर्वेदिक टॉनिक का उपयोग ज्यादातर महिलाएं प्रसव के बाद की कमजोरी से उबरने के लिए करती हैं। जैसे कि प्रसवोत्तर बुखार, पाचन संबंधी समस्याएं आदि को दशमूलारिष्ट के सेवन से ठीक किया जा सकता है।
  3. दशमूला के सेवन के सबसे आम फायदों पर आते हैं, जैसे – यह शारीरिक शक्ति में सुधार करता है और व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता का निर्माण करता है।
  4. पीठ दर्द, पीसीओएस/पीसीओडी, मासिक धर्म दर्द, गठिया आदि से पीड़ित लोगों को अक्सर दशमूलारिष्ट निर्धारित किया जाता है।
  5. इसके अलावा, इसका उपयोग विभिन्न त्वचा समस्याओं जैसे मुँहासे, काले घेरे, काले धब्बे आदि के लिए भी किया जाता है।
  6. इसके अलावा, दशमूलारिष्ट में पुनर्योजी गुण होते हैं।
  7. अंत में, इसका उपयोग मानसिक तनाव से राहत दिलाने में भी किया जाता है, खासकर महिलाओं के लिए।

दशमूलारिष्ट के दुष्प्रभाव

दशमूलारिष्ट के सेवन से ऐसे कोई दुष्प्रभाव नहीं होते हैं। हालाँकि, अधिक सेवन से व्यक्ति निम्नलिखित लक्षणों से पीड़ित हो सकता है,

  • पेट में जलन होना
  • दस्त
  • प्यास का बढ़ना
  • मुँह में छाले, कुछ दुष्प्रभाव हैं।

दिशा-निर्देश – 15ml-20ml सिरप पानी के साथ दिन में केवल दो बार लें। बच्चों को इसे देने से पहले आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। दशमूलारिष्ट का अधिक मात्रा में सेवन न करें।

भारत में सर्वोत्तम दशमूलारिष्ट मूल्य 

दशमूला को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से आसानी से खरीदा जा सकता है। कई प्रमुख आयुर्वेदिक कंपनियां हैं जो विभिन्न पैकेजिंग में दशमूलारिष्ट पेश करती हैं। और कीमत उत्पाद की मात्रा के अनुसार हो सकती है। सबसे छोटी मात्रा जो आप खरीद सकते हैं वह 200ml है, जो अधिकतम मूल्य टैग के साथ आती है। 100 रु. इसी तरह, 450 मिलीलीटर की कीमत सीमा रुपये हो सकती है। 250-350. उत्पाद की गुणवत्ता जितनी अधिक होगी कीमत भी उतनी ही अधिक होगी। हालाँकि, कई कंपनियाँ ऑनलाइन भी बेचती हैं। ऐसे कई ऑफर उपलब्ध हैं जहां आप प्रति पैकेज 4 बोतलें खरीद सकते हैं। साथ ही डिस्काउंट वाले प्रोडक्ट भी ऑनलाइन उपलब्ध हैं।

इसके अलावा, यूनीरे लाइफसाइंसेज अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे के साथ भारत की शीर्ष आयुर्वेदिक कंपनी है। कंपनी के पास दशमूलारिष्ट सहित सर्वोत्तम हर्बल रेंज है। हमें उम्मीद है कि आपको “भारत में दशमूलारिष्ट मूल्य” के बारे में सारी जानकारी मिल गई होगी। अंत में, दशमूला अत्यधिक किफायती है और भारत के सभी राज्यों में आसानी से उपलब्ध है। किसी भी प्रश्न के लिए, निम्नलिखित विवरणों पर बेझिझक यूनीरे लाइफसाइंसेज से संपर्क करें।

सम्पर्क करने का विवरण

कंपनी का नाम  –  यूनीरे लाइफसाइंसेज

संपर्क नंबर  – +91 98153 40201

ईमेल पता  – uniraylifesciences@gmail.com

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

प्रश्न – क्या दशमूलारिष्ट मधुमेह के रोगियों के लिए सुरक्षित है?

उत्तर – इसका सेवन करना सुरक्षित है लेकिन मधुमेह के रोगियों के मामले में इसकी मात्रा के बारे में डॉक्टर से सलाह लें।

प्रश्न – क्या दशमूलारिष्ट में अल्कोहल होता है?

उत्तर – हां, जड़ी-बूटियों के किण्वन से दशमूलारिष्ट में अल्कोहल की मात्रा लगभग 5% हो जाती है।

Read More
uniray lifesciences